नींदड़ : संघर्ष समिति ने जेडीए से नए अधिग्रहण कानून को लागू करने की मांग की - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
February 24, 2020
जयपुर राजस्थान

नींदड़ : संघर्ष समिति ने जेडीए से नए अधिग्रहण कानून को लागू करने की मांग की

जनमंथन, जयपुर। नींदड़ जमीन समाधि सत्याग्रह आंदोलन के तहत नींदड़ बचाओ युवा किसान संघर्ष समिति और जेडीए व सरकार की उच्च स्तरीय कमेटी के बीच प्रस्तावित वार्ता आज जेडीए के मंथन सभागार में सकारात्मक वातावरण में संपन्न हुई। आज वार्ता के पहले दौर में संघर्ष समिति के संयोजक डॉ नगेंद्र सिंह शेखावत ने उच्च स्तरीय समिति के समक्ष नींदड़ के किसानों का पक्ष स्पष्ट करते हुए नए भूमि अधिग्रहण कानून 2013 को नींदड़ में लागू करने का प्रस्ताव दिया। डॉक्टर नरेंद्र सिंह शेखावत ने उच्च स्तरीय कमेटी से जेडीए द्वारा नया भूमि अधिग्रहण कानून 2013 लागू करने के हर पहलू पर विचार करने की मांग रखी। साथ ही नगेन्द्र सिंह शेखावत ने सुझाव दिया कि अगर जेडीए के द्वारा नया भूमि अधिग्रहण कानून नींदड़ में लागू करने में कानूनी अड़चन आती है तो जेडीए नया भूमि अधिग्रहण कानून 2013 लागू करने का प्रस्ताव राजस्थान सरकार के सामने पेश करे ताकि राजस्थान सरकार नींदड़ में नया भूमि अधिग्रहण कानून लाने पर विचार करें और संघर्ष समिति मुख्यमंत्री और सरकार के सामने अपना पक्ष स्पष्ट कर सके।


नगेंद्र सिंह शेखावत ने जेडीए को पुराने भूमि अधिग्रहण कानून से किसानों को जमीन अवाप्ति के बदले दिया जा रहा मुआवजा विकसित भूमि तथा अन्य लाभ से संबंधित तथ्यों को लिखित रूप से संघर्ष समिति को देने का प्रस्ताव रखा। इसके अलावा अवाप्ति में आ रही 18 कॉलोनियों की स्थिति को भी स्पष्ट करने की मांग रखी। 

नगेन्द्र सिंह ने बताया कि उच्च स्तरीय कमेटी के साथ वार्ता बेहद सकारात्मक वातावरण में संपन्न हुई और दूसरे दौर की वार्ता अगले सप्ताह में होने के निर्णय के साथ ही आज वार्ता संपन्न हुई। नींदड़ बचाओ युवा किसान संघर्ष समिति तथा जेडीए और सरकार के उच्च स्तरीय कमेटी के बीच हुई वार्ता में संघर्ष समिति की ओर से नगेंद्र सिंह शेखावत, कैलाश बोहरा, बाबूलाल कुमावत, किशोरी लाल शर्मा, सीताराम शर्मा, पूरण सिंह और उच्च स्तरीय समिति की ओर से एडिशनल कमिश्नर एल.पी.सी. गिरीश पाराशर एडिशनल कमिश्नर पी.आर.एन. अवधेश सिंह, प्रवर्तन अधिकारी रघुवीर सैनी ओएसडी (आर एम) देवेंद्र अरोड़ा इंजीनियरिंग विंग के अधिकारी और जोन उपायुक्त 12 मनीष चौधरी मौजूद रहे।

Related posts