मीठा और लाल तरबूज खरीदने के लिए 4 टिप्स - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
जयपुर लाइफस्टाइल

मीठा और लाल तरबूज खरीदने के लिए 4 टिप्स

जनमंथन, जयपुर। यूं तो तो तरबूज (Watermelon) हर मौसम में उपलब्ध होने लगा है लेकिन भरी गर्मियों में इसे खाने का मजा कुछ और ही है। तरबूज को खाने से पहले जितना ठंडा किया जाएगा वह उतना ही मीठा और मजेदार लगेगा।

गर्मी में पानी और ऊर्जा की कमी को दूर करने के लिए तरबूज का जूस भी गुणकारी बताया गया है। अधिकतर लोग तरबूज को दोपहर के खाने के साथ, शाम होने से पूर्व खाना अधिक पसंद करते हैं। भारत के बाज़ारों में कई प्रजाति के तरबूज उपलब्ध हैं।

सबसे बड़ा सवाल यह है कि इस मजेदार फल को बाजार से खरीदते वक्त कौन-कौनसी बातों का ध्यान रखा जाए ताकि इस खाने का मजा किरकिरा ना हो जाए। दरअसल कई बार हम तरबूज घर लाकर काटते हैं तो कच्चा और फीके स्वाद का निकलता है। ऐसे में हम आपको ऐसी 4 टिप्ट बताएंगे जिसके बाद आप मीठा और स्वादिष्ट पका हुआ तरबूज खरीदना सीख जाएंगे।

तरबूज कैसे खरीदें –

1. तरबूज का कलर – पके हुए तरबूज का रंग गाढा होता है और कम चमकदार होता है , जबकि कच्चा तरबूज देखने में चमकदार व रंग हल्का होता है।

2. तरबूज का वजन – जिस तरबूज का उसके आकार के मुताबिक वजन भारी होगा वह तरबूज बढिया पका हुआ निकलेगा।

3. तरबूज पर पीला चिन्ह – तरबूज का एक भाग थोड़ा सा पीला होता है, यह वो हिस्सा होता है जो फल के बढ़ते समय जमीन से छुआ होता है। इस पीले हिस्से का कलर जितना गहरा होगा उतना बेहतर है। अगर सफ़ेद या हल्का रंग हो तो समझिए कि तरबूज को अधपका ही तोड़ा गया है और ऐसा तरबूज भीतर से कच्चा निकलता है।

4. हल्के से थपकी देकर पहचानें – अमूमन आपने देखा होगा कि तरबूज खरीदते समय लोग उसे थपथपा कर देखते है. ये एक खास तरीका है, तरबूजे को उँगलियों से बजाकर देखें अगर आवाज तेज सुनाई देती है तो तरबूज अच्छा पका हुआ है और अगर आवाज हल्की सुनाई दे तो समझिए तरबूज कच्चा है।

Related posts