जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान राजस्थान विधानसभा चुनाव

भाजपा सरकार ने राशन और पेंशन के लिए तरसाया लोगों को-खाचरियावास

जनमंथन, जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता और जयपुर जिलाध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि भाजपा सरकार ने पिछले पांच सालों के शासन में किसी भी वर्ग की सुध नहीं ली। सबसे ज्यादा नुकसान गरीब और मध्यमवर्गीय परिवारों को उठाना पड़ा। खाद्य सुरक्षा गारन्टी कानून के तहत मिलने वाला गेंहू कम कर दिया गया, लाखों लोगों-विकलांग, विधवा, वृद्ध आदि की पेंशन बंद कर दी गई। भाजपा सरकार ने लोगों को मिलने वाला गेंहू और केरोसीन बंद कर दिया और कहा कि आप अपने जिन्दा होने का प्रमाण दीजिये। कांग्रेस की सरकार जाने के बाद लोग पेंशन कार्यालयों में अपने जिन्दा होने का प्रमाण देने के लिये दर-दर की ठोकरें खाते रहे, राशन की दुकानों पर बुजुर्गों को उनका अंगूठा घिस जाने की बात कहकर लौटा दिया गया।

खाचरियावास ने कहा कि आज भी लाखों बुजुर्ग महिलायें और पुरूष, विधवा, परित्याक्ता और विकलांग पेंशन की इंतजारी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री सहित किसी भी मंत्री को इन लोगों का दर्द समझकर समस्या का समाधान करने की फुर्सत नहीं थी। मुख्यमंत्री पूरे पांच वर्ष में सिर्फ एक बार लोगों से मिली, इसके अलावा पांच वर्ष तक मुख्यमंत्री का दरवाजा लोगों के लिये बंद ही रहा। खाद्य सुरक्षा गारन्टी कानून के तहत मिलने वाला गेंहू भाजपा सरकार ने आते ही कम कर दिया, लाखों लोगों को खाद्य सुरक्षा गारन्टी कानून की सूची से बाहर कर दिया गया, हजारों टन गेंहू सरकारी गोदामों में सड़ता रहा लेकिन उसे जरूरतमंदों में नहीं बांटा गया।

खाचरियावास ने कहा कि पांच वर्ष तक जो लोग राशन के गेंहू और सरकारी पेंशन के लिये तरसते रहे, उनकी बद दुआ राज्य की भाजपा सरकार का अंत कर देगी। आज जब हम लोगों के बीच चुनाव प्रचार में जाते हैं तो बडी तादाद में लोग मिलते हैं जो पेंशन और राशन का गेंहू नहीं मिलने से होने वाली परेशानी से अवगत कराते हैं।

खाचरियावास ने कहा कि कांग्रेस सरकार बनने पर जिन लोगों की पेंशन बंद कर दी गई है और जिनका राशन का गेंहू रोक दिया गया है, ऐसे लोगों को कांग्रेस सरकार पेंशन शुरू करके जरूरतमंदों को राशन का गेंहू उपलब्ध करायेगी।

Related posts