जयपुर राजस्थान राजस्थान विधानसभा चुनाव

हाईकोर्ट जजों ने जानी ईवीएम-वीवीपैट मशीनों से सुरक्षित मतदान की प्रक्रिया

जन्मंथान, जयपुर। राजस्थान उच्च न्यायालय जयपुर पीठ में सोमवार को माननीय न्यायाधिपतियों ने विधानसभा चुनाव-2018 के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली ईवीएम-वीवीपैट मशीनों का प्रदर्शन देखा और इनसे सुरक्षित मतदान प्रक्रिया तथा मतगणना के बारे में निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों से विस्तृत जानकारी हासिल की।

भारत निर्वाचन आयोग के उप चुनाव आयुक्त सुदीप जैन, राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने उच्च न्यायालय के माननीय न्यायधिपतियों के समक्ष प्रस्तुतिकरण के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी। उप चुनाव आयुक्त जैन ने कहा कि एमथ्री ईवीएम मशीनें पूरी तरह सुरक्षित हैं। किसी भी उपकरण से अटैच नहीं होने के कारण इसे हैक भी नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि इसकी वन टाइम मैमोरी, रीयल टाइम क्लॉक जैसे आधुनिकतम फंक्शन होने के कारण इसमें किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया जा सकता। उन्होंने बताया कि प्रदेश की सभी 200 सीटों पर पहली बार एमथ्री ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल किया जा रहा है, जिससे मतदाता यह जान सकेगा कि उसने जिसे भी वोट दिया है, वह उसी उम्मीदवार को गया है। मतदान करने के साथ ही 7 सैकंड के लिए पर्ची वीवीपैट पर दिखाई देगी, जिसमें उम्मीदवार का नाम, क्रम संख्या अंकित होगी। इस अवसर पर इन दोनों मशीनों का सजीव प्रदर्शन किया गया तथा मोक पोल भी करवाया गया।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि प्रदेश में मतदाता जागरुकता के लिए चलाए जा रहे स्वीप कार्यक्रम के तहत मतदान केंद्रों तक जाकर आम मतदाता से लेकर विभिन्न संस्थाओं आदि को ईवीएम-वीवीपैट की जानकारी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश भर में अब तक करीब 80 लाख लोगों ने माॅक पोल ने हिस्सा लिया है। उन्होंने यह भी बताया कि निर्वाचन विभाग व्यापक प्रचार अभियान के तहत प्रिंट-इलेक्ट्रोनिक मीडिया-सोशल मीडिया सहित विभिन्न माध्यमों के जरिए मतदाताओं को मताधिकार का प्रयोग करने के लिए जागरुक कर रहा है।

इस अवसर पर माननीय न्यायाधिपतिगणों ने अधिकारियों से ईवीएम, कंट्रोल यूनिट तथा वीवीपैट मशीन की कार्यप्रणाली की जानकारी हासिल की। प्रस्तुतिकरण के दौरान माननीय न्यायाधिपतिगण मोहम्मद रफीक, एम.एन. भंडारी, वी.एस. सिराधना, महेन्द्र माहेश्वरी, बनवारी लाल शर्मा, प्रकाश गुप्ता, जी.आर.मूलचंदानी, गोवर्धन बारदार, पंकज भंडारी, डी.सी. सोमानी, एस.पी. शर्मा, अशोक गौड़, इंद्रजीत सिंह, अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डाॅ. रेखा गुप्ता, जिला निर्वाचन अधिकारी सिद्धार्थ महाजन, संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

अधिवक्ताओं और विधिक अधिकारियों ने जानी ईवीएम-वीवीपैट से सुरक्षित मतदान की प्रक्रिया
आयोग से आए अपर सचिव ओपी साहनी ने उच्च न्यायालय परिसर में अधिवक्ताओं, विधिक अधिकारियों और बार काउंसिल के सदस्यों के समक्ष ईवीएम-वीवीपैट के बारे में विस्तार से जानकारी दी। अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी जोगाराम ने भी स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान की प्रक्रिया पर जानकारी दी। इस अवसर पर विधिक और निर्वाचन से जुड़े अधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts