जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान राजस्थान विधानसभा चुनाव

अब प्रतापसिंह खाचरियावास ने सहकारिता मंत्री से मांगा 150 किसानों की आत्महत्या का हिसाब

जनमंथन, जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं जयपुर जिलाध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान के सहकारिता मंत्री अजय तिलक और राज्य की पूरी भाजपा सरकार झूठी है। राजस्थान की जनता और सरकार इस बात को जानती है कि प्रदेश में कर्ज से परेशान होकर 150 किसानों ने आत्महत्या कर ली। विधानसभा पटल पर भाजपा सरकार ने यह माना कि भुखमरी और कर्जे से परेषान होकर प्रदेश के किसानों ने आत्महत्या की है। अब जब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील का भ्रष्टाचार की पोल जनता के सामने खोली तो भाजपा के सबसे बडे नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी राहुल गांधी के सवालों का जवाब नहीं दे पाये। ऐसे में सहकारी मंत्री अजय तिलक का यह कहना कि वो राहुल गांधी से बहस करने को तैयार है-छोटे मुंह बडी बात लगती है।

खाचरियावास ने कहा है कि अजय तिलक को बहस करनी है तो झूठे बयान देने की तर्ज पर भाजपा कार्यालय में वो समय निर्धारित कर ले तो उन 150 किसानों के परिवारों को बहस करने के लिये भेज देगें, जिनके परिवार के सदस्य किसानों ने राज्य की भाजपा सरकार की गलत नीतियों और कर्जे से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। सहकारिता मंत्री को आत्महत्या करने वाले किसानों के परिवारों से बहस करनी चाहिये। सहकारिता मंत्री झूठ बोल रहे हैं, पांच साल तक तो राज्य की भाजपा सरकार एवं सहकारिता मंत्री ने किसानों को ना ही समर्थन मूल्य दिया, ना ही पूरी बिजली दी और ना ही किसानों के पूरे कर्जे माफ किये। ऐसे में बडे-बडे बेबुनियाद बयान देकर राज्य की भाजपा सरकार के मंत्री अपनी असफलताओं, भ्रष्टाचार, तानाशाही और घमण्ड से जनता का ध्यान नहीं हटा सकते।

खाचरियावास ने आगे कहा कि राज्य सरकार के मंत्री जो पांच साल तक जनता के बीच में गये नहीं, काम कुछ किया नहीं, भ्रष्टाचार को बढ़ाते रहे, किसान, कर्मचारी, व्यापारी, मजदूर, विद्यार्थी से धोखा करते रहे, वो मंत्री आज राहुल गांधी पर टिप्पणी करके राहुल गांधी को चुनौती देकर चर्चा में आना चाहते हैं लेकिन उनको यह समझ लेना चाहिये कि राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को राफेल डील में जवाब देने के लिये मजबूर किया तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लोकसभा में खडे होकर जवाब नहीं दे पाये। अब मैं सहकारिता मंत्री से कहूंगा कि जिन 150 किसानों ने आत्महत्या कर ली, उनके परिवारों से बहस कर ले तो उन्हें पता चल जायेगा कि राज्य की भाजपा सरकार ने किसानों का कोई भी भला नहीं किया और राजस्थान के किसानों के साथ पांच वर्ष तक अन्याय किया गया।

Related posts