November 17, 2018
जयपुर देश पॉलिटिक्स राजस्थान राजस्थान विधानसभा चुनाव

पूर्व PM एचडी देवेगौड़़ा पहुंचे जयपुर, राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे के गठन का किया ऐलान

जनमंथन, जयपुर। राजस्थान में भले ही तीसरे विकल्प का अस्तित्व नहीं रहा हो लेकिन मौजूदा हालातों में अब तीसरे विकल्प के गठन पर सियासती हलचलें तेज हो गई हैं। पूर्व पीएम और जेडीएस प्रमुख एचडी देवेगौडा की मौजूदगी में आज जयपुर में राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे की आधारशिला रखी गई। इसी के साथ आज 6 वामपंथी जनवादी पार्टियों के इस संयुक्त मोर्चे यानि राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे का संयुक्त कार्यकर्ता सम्मेलन भी आयोजित हुआ। सम्मेलन का आयोजन श्री करणी चारण छात्रावास में हुआ।

मुख्य अतिथी पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बात खूब करते हैं, लेकिन किसानों के लिए करते कुछ नहीं है। हमने भी कुछ दिन देश की सरकार चलाई, हम कॉरपोरेट की निगाह से नहीं बल्कि किसान की निगाह से सरकार चलाते है। उन्होंने कहा कि राजस्थान के जाट समुदाय को आरक्षण की आधारशिला हमारी सरकार ने रखी थी।

देवेगौड़ा ने यह भी कहा कि – आज हम सभी एक मंच पर आ चुके हैं’, ‘देवेगौडा ने कहा कि राजस्थान के विधानसभा चुनाव में साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे’, उन्होंने कहा कि वामपंथी दलों और कम्युनिस्ट पार्टी से उनका दिल का रिश्ता रहा है’, ‘पूर्व पीएम ने कहा कि कुछ दिनों इस देश को चलाने का अवसर मिला था, उस दौरान गरीबों के लिए सस्ता अनाज उपलब्ध कराया’।

सम्मेलन में मौजूद सीपीआई के राष्ट्रीय सचिव और पूर्व सांसद अतुल अंजान ने कहा कि देश में सत्तारुढ मोदी सरकार कॉर्पोरेट घरानों की लड़ाई लड रही हैं, कॉर्पोरेट घरानों का पैसा लेकर लड़ रहे हैं, ऐसे लोग कभी भी गरीब किसान के लिए नहीं लड सकता है। उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार नहीं है।

कार्य्रकम में एम पोलित ब्यूरो सदस्य हन्नान मौला, सीपीआईएम के केंद्रीय नेता साथी मोहम्मद सलीम, सपा के पूर्व सांसद पंडित रामकिशन सहित अनेक राष्ट्रीय स्तरीय नेता शामिल हुए।

Related posts