प्रशासन पस्त, अवैध खनन करने वाले मस्त - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
February 23, 2019
जयपुर राजस्थान

प्रशासन पस्त, अवैध खनन करने वाले मस्त

जगत सिंह ने अवैध खनन के खिलाफ खोला मोर्चा
मासूम बच्चों और गरीब मजदूरों के हक में उठाई आवाज
सरकार को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग
सरकारी सम्पत्ति और पर्यावरण को भी नुकसान पहुंचाने का आरोप

जनमंथन,भरतपुर। कामां विधायक जगत सिंह ने अवैध खनन के खिलाफ फिर मोर्चा खोल दिया है। अवैध खनन के खिलाफ लगातार अपनी आवाज बुलंद करने वाले जगत सिंह ने इस बार राजस्थान के श्रम एवं रोजगार मंत्री जसवंत यादव को पत्र लिखा है। इस शिकायत पत्र में जगत सिंह ने छपरा और नांगल क्षेत्र में संचालित अवैध क्रेशर का जिक्र किया है। शिकायती पत्र में कहा गया है कि इन अवैध क्रेशर पर बाल मजदूरी कराई जा रही है, मासूम बच्चों की जान से खिलवाड का यह पर्याय बन गए हैं। क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों का स्थानीय श्रम एवं रोजगार विभाग में कोई पंजीकरण नहीं है। यहां काम कर रहे मजदूरों के पास उनकी आईडी भी नहीं हैं ना ही अधिकृत सूचना, ताकि आवश्यकता पडने पर या किसी भी हादसे के वक्त उनके परिजनों से तुरंत सम्पर्क साधा जा सके. कामां विधायक ने यह भी कहा कि सरकारी क्षेत्र में खनन अवैध रुप से चल रहा है और रोकने वाला कोई नहीं है। दिन रात चल रहे इस अवैध खनन के खेल में ना केवल मासूम बच्चों, गरीब मजदूरों की जान से खिलवाड हो रहा है बल्कि सरकारी क्षेत्र में अवैध खनन कर पर्यावरण नष्ट किया जा रहा है और सरकारी सम्पत्ति को भी भारी नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

विधायक ने सरकार से मामले में तुरंत ठोस कार्रवाई की मांग की है। उधर विभाग को जगत सिंह की शिकायत मिलने के साथ ही स्थानीय क्रेशर संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है। सरकार ने भी मामले में इस बार ठोस कार्रवाई का मन बना लिया है, और कार्रवाई के लिए मास्टर प्लान पर काम शुरु हो गया है। उधर जगत सिंह ने ठोस कार्रवाई ना होने पर मामले में केन्द्र तक मुद्दा ले जाने की मांग की है। मामले में स्थानीय प्रशासन की अनदेखी, मिलीभगत और वसूली की बात भी सामने आ रही है। रॉयल्टी ठेकेदारों पर तीन तीन सौ रुपए की अवैध वसूली के भी आरोप लगातार लग रहे हैं।

Related posts