जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान

अमित शाह ने कहा- एन्टी इनकंबेंसी जैसी कोई चीज नहीं होती, 8 नहीं 18 घंटे काम करो जीत BJP की होगी

जनमंथन, जयपुर। राजस्थान विधानसभा-2018 और लोकसभा चुनाव-2019 की रणनीति में भाजपा का राष्ट्रीय और प्रदेश नेतृत्व जुट गया है। 7 जुलाई को पीएम मोदी के जनसंवाद के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का जयपुर दौरा इसी रणनीति का अहम हिस्सा माना जा सकता हैं।

कुछ माह पहले जहां एक ओर मोदी का जादू प्रदेश में फीका पडता जा रहा था, वहीं मोदी और राजे के बीच दूरियों की अफवाहों का बाजार भी गर्म था। पिछले उपचुनावों में बीजेपी की सरकार के खिलाफ प्रदेश में उठ रही विरोध की लहर साफतौर पर नजर आई। राजस्थान में सत्ता परिवर्तन की बातें खूब तूल पकडने लगी, विपक्षी कांग्रेस भी मुद्दों को लेकर अब खुलकर सामने आने लगी। आम आदमी से लेकर मीडिया तक यह चर्चाएं रहीं कि भाजपा को 2018 के विधानसभा चुनाव के लिए राजस्थान में नेतृत्व बदलना पड़ेगा। राजे ने पिछले 15 दिनों में मोदी और शाह की जयपुर में मेजबानी कर खुद को और पार्टी को परेशानी से उबार लिया है। दोनों ही नेता प्रदेश में भाजपा के लिए बन रही अनिश्चितता को भी यह कहकर खत्म कर चुके हैं कि भाजपा वसुंधरा के नेतृत्व में ही चुनाव लडेगी।

2018 और 2019 में होने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह आज जयपुर पहुंचे। उन्होंने राजमंदिर में हुई सोशल मीडिया वॉलियेन्टर्स मीट में कार्यकर्ताओं से कहा कि काम में जुट जाओ 8 घंटे की जगह 18 घंटे काम करो। शाह ने कार्यकर्ताओं से कहा कि मोदी और भाजपा की व्यापकता को जेहन में रखकर मैदान में उतर जाएं जीत हमारी ही होगी। कार्यकर्ताओं मे शाह ने ऐसा जुनून भरा जिसके बाद कार्यकर्ता मोदीमोदी के नारे लगाकर काफी उत्साहित नजर आ रहे थे।

शाह के इस दौरे में उन्होंने सीएम वसुंधरा राजे की पीठ भी थपथपाई, प्रदेश सरकार की योनजाओं को भी सराहा और कार्यकर्ताओं से कहा कि जितनी भी योजनाएं हैं जनहित की हैं। अमित शाह ने यह भी कहा कि जितना भी काम हुआ उसी का प्रचार करो क्योंकि कोई भी सरकार ऐसी नहीं जिसने सभी काम पूरे कर लिए हों। अमित शाह ने कहा कि एन्टीइनकंबेंसी नाम की कोई चीज नहीं होती यह केवल माउथ पब्लिसिटी है जिसमें 90 फीसदी अच्छे काम पर 10 फीसदी नकारात्मकता हावी हो जाती है इसे दूर करना होगा।

Related posts