November 16, 2018
जयपुर राजस्थान

‘आइडियल वुमानिया नेशनल अवार्ड’ से 22 महिलाएं सम्मानित

जनमंथन, जयपुर। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर पूरे देश ने जहां नारी शक्ति को नमन किया वहीं गुलाबीनगरी जयपुर ने भी देश की उन चुनिंदा 22 महिलाओं का सम्मान किया जिसकी वो हकदार थीं। इन महिलाओं में ज्यादातर ऐसी थी जिन्होंने नारी को अबला कहने वाली सामाजिक संकीर्णता को भी तोड़ा। जयपुर में क्लासिक डांस और आर्ट से जुड़ी संस्था नृत्यांशी कला सोसायटी ने इन 22 महिलाओं को यह सम्मान दिया। संस्था की ओर से 8 मार्च को आइडियल वुमानिया नेशनल अवार्ड के दूसरे संस्करण का आयोजन हुआ।

आइडियल वुमानिया नेशनल अवार्ड – 2018 का आयोजन जयपुर के जवाहर कला केन्द्र में शाम 5 बजे शुरु हुआ। अपने भव्य और पारंपरिक अंदाज में आयोजित देशभर की हजारों महिलाओं ने अपना रजिस्ट्रेशन किया। संस्था की ओर से नियुक्त जूरी ने 22 महिलाओं के नाम गंभीर विचार विमर्श करने के बाद तय किए थे। इस अवार्ड समारोह में राजनीति, शिक्षा, स्वास्थ्य, कला, समाज सेवा के साथ पुलिस और प्रशासनिक उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को Participant बनाया गया था।

कार्यक्रम की शुरुआत मशहूर कत्थक गुरू शशि सांखला, नृत्यांशी सोसायटी की सचिव प्रीति श्रीवास्तव, सोसायटी के अध्यक्ष बृजकिशोर शर्मा और जनमंथन न्यूज की हैड विनीता शर्मा ने दीप  प्रज्वलित कर की। समारोह के अन्य अतिथियों में राजस्थान में शराबबंदी के लिए काम कर रहे संगठन जस्टिस फॉर छाबड़ा की प्रमुख पूनम छाबड़ा और मनीषा सिंह भी मौजूद थी।

कार्यक्रम का आगाज़ नारी शक्ति और सशक्तिकरण के प्रेरित करते बृजकिशोर श्रीवास्तव के गीत “नारी नमन तुझको, नमन तुझको इन चरणों को नमन” से हुआ। इसके अलावा कत्थक पर अनु सिंह ने और चित्रांशु श्रीवास्तव ने राजस्थान का प्रतिनिधित्व करते हुए घूमर पर अपनी बेहतरीन प्रस्तुति दी। यही नहीं हेमलता के भवाई नृत्य, विनीता का नारी शोषण एसिड अटैक, ड्रामा बेटी बचाओ संरक्षण पर नृत्यांशी की नाट्य प्रस्तुति ने दर्शकों का मन मोह लिया। समारोह की अध्यक्षता मनीषा सिंह ने की।

नृत्यांशी कला सोसायटी की प्रमुख प्रीति श्रीवास्तव ने कहा कि पूरी दुनिया ने महिला को लेकर अपनी सोच को बदला है लेकिन भारत अभी भी पीछे है। उन्होंने कहा कि जिन यूरोपियन देशों में महिला को परिवार और समाज में मान मिलता है वे महिलाएं आज हर क्षेत्र में अपने देश का नाम रोशन कर रही हैं। प्रीति श्रीवास्तव ने कहा कि जरुरत और समय सबकुछ बदल देता है और इसीलिए भारत की महिला भी अब हर क्षेत्र में आगे है। उन्होंने कहा कि उनकी संस्था की ओर से आयोजित आइडियल वुमानिया नेशनल अवार्ड उन महिलाओं के सम्मान में है जिन्होंने अपनी प्रतिभा या क्षमता का लोहा मनवाया है।

संस्था के अध्यक्ष बृजकिशोर श्रीवास्तव ने कहा कि एक महिला के लिए लोगों की सोच बदले इसके लिए महिलाओं का प्रोत्साहन जरूरी है, और यह अवार्ड प्रोत्साहन की इस गुंजाइश को पूरा कर रहा है। उन्होंने कहा कि आइडियल वुमानिया नेशनल अवार्ड आगे नए नवाचारों के साथ हर साल आयोजित रहेगा ताकि नारी शक्ति के जज्बे को सही सम्मान दिया जा सके।

समारोह के आयोजक अरबाज खान, होटल एंड टूरिज्म के जानकार दीपेन्द्र लूणीवाल, कार्यक्रम के स्पॉन्सर अमृत ग्रुप के राजन सरदार, योर इवेंट माय प्लानिंग की अनीता श्रीवास्तव, सोहन लाल डारा, स्वपिस किचन की सीमा मैंदीरता और विकास बंशीवाल ने आगंतुकों का आभार जताया।

अन्य खबरेंः

आइडियल नेशनल वुमानिया अवार्ड-2018 में होगा, नारी शक्ति का सम्मान
@ आइडियल वुमानिया नेशनल अवार्ड्स में होगा, समाज का गौरव बनी महिलाओं का सम्मान

Related posts