November 16, 2018
breaking news जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान

राजस्थान के नाराज किसान को अब 39 अरब के सपने, किसानों की आय दोगुनी करने का दावा

जनमंथन, जयपुर। राजस्थान सरकार ने प्रदेश के किसानों व पशुपालकों को खुश करने के लिए इस बार घोषणाओं की झड़ी लगा दी है। 3900 करोड़ रुपये की इन घोषणाओं को आगामी विधानसभा चुनाव से जोडकर देखा जा रहा है।

राजस्थान के कृषि एवं पशुपालन मंत्री प्रभुलाल सैनी ने सदन में बताया है कि कृषि क्षेत्र के नवीन और उन्नत तकनीकों पर पैसा खर्च होगा। उन्होंने बताया कि वसुंधरा राजे सरकार का लक्ष्य राजस्थान के किसानों की आय को दोगुनी करना है।

कृषि मंत्री ने सदन में पशुपालन और चिकित्सा संबंधी डिबेट पर जवाब पेश करते हुए बताया कि राजस्थान सरकार ने कृषि, पशुपालन क्षेत्र के लिए 39 अरब की अनुदान मांगें पारित की हैं। उन्होंने बताया कि कृषि क्षेत्र में लगभग 28 अरब और पशुपालन एवं चिकित्सा क्षेत्र में लगभग 11 अरब की अनुदान मांगों को पारित किया है। सैनी ने बताया कि खजूर, जैतून, ड्रैगन फ्रूट और किन्नू जैसी गैर परम्परागत फसलों का नवाचार कर फसलों का डायवर्जिफिकेशन किया जा रहा है।

बता दें कि पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा को जो विशाल बहुमत मिला था उसमें ग्रामीण और किसान वर्ग का खास योगदान था। पिछले चुनाव के वोटिंग प्रतिशत को देखें तो शहरी वोटर्स वाली भाजपा को जमकर ग्रामीण वोट मिला। प्रदेश में चले किसान आंदोलन के बाद विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की बुरी हार ने वसुंधरा सरकार को चकित कर दिया। आगामी विधानसभा चुनाव करीब हैं और उपचुनाव जैसे हश्र से बचने के लिए राजस्थान की भाजपा सरकार के आखिरी बजट में किसानों और पशुपालकों को इस बार सबसे पहले और सबसे ज्यादा खुश करने का प्रयास किया गया है।

कृषि मंत्री ने बताया कि राजस्थान सरकार ने कई फसलों के लिए लागत से डेढ गुना ज्यादा के प्रस्ताव भिजवाए हैं। प्रभुलाल सैनी ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग की समस्या के बाद भी प्रदेश में अनाज व दलहन का प्रोडक्शन बढा है। इस मौके पर उन्होंने यह भी बताया कि 77 लाख 11 हजार किसानों को सॉयल हैल्थ कार्ड डिस्ट्रीब्यूट हो चुके हैं।

Related posts