होटल इंडस्ट्री को रास नहीं आया आम बजट 2018-19 - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
जयपुर राजस्थान

होटल इंडस्ट्री को रास नहीं आया आम बजट 2018-19

जनमंथन, जयपुर। मंदी कि मार झेल रहे टूरिज्म के लिए बजट कुछ खास अच्छा नही है। टूरिज्म की बात करे तो  इस बार बजट में टैक्स से कुछ राहत की उम्मीद थी ,ग्लोबल मार्केट में विदेशी कंपनियों को टक्कर देने के लिए टैक्स में कमी होनी चाहिए थी।मेरा मानना है टूरिज्म इंडस्ट्री के हक में नीति बनाने से रोजगार के मौके भी बढ़ेंगे।‘थाईलैंड, मलेशिया और सिंगापुर जैसे ग्लोबल मार्केट में वहां की कंपनियों से मुकाबला करने के लिए भारतीय कंपनियों को उनके बराबर रेट पर सर्विस देने की जरूरत है, मेरे अनुसार  हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में कम टैक्स की वजह से इन देशों को सैलानी ज्यादा पसंद करते हैं. जबकि खर्च के लिहाज से पर्यटकों के लिए भारत महंगा देश है।

हॉस्पिटैलिटी जीएसटी स्लैब में राहत मिलनी चाहिए थी, कॉर्पोरेट टैक्स की दरें 25 फीसदी तक घटानी चाहिए थी, आईटीसी (इनपुट टैक्स क्रेडिट) के फायदे देने जैसी मांगो पर ध्यान देना चाहिए था। अगर इस सेक्टर की ये मांगें पूरी होती हैं तो इससे लोगों का घर से बाहर ठहरना और खाना सस्ता हो सकता है. दीपेंद्र लुनिवाल (जनरल मैनेजर) होटल श्याम पैराडाइज जयपुर 9461253305 आगे पढियेः-कैसे हुआ राजस्थान की 17 विधानसभाओं में बीजेपी का सफाया

Related posts