यूपी निकाय चुनाव में भी हारी बसपा लेकिन मायावती अब राजस्थान में जमीन तलाश रही, बीजेपी और संघ को लिए आड़े हाथ - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
breaking news जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान

यूपी निकाय चुनाव में भी हारी बसपा लेकिन मायावती अब राजस्थान में जमीन तलाश रही, बीजेपी और संघ को लिए आड़े हाथ

जनमंथन, जयपुर। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के बाद अब निकाय चुनावों में भी बसपा को शिकस्त का सामना करना पडा, लेकिन अब बसपा सुप्रीमों मायावती राजस्थान सहित अन्य चुनावी राज्यों में पांव पसारने की तैयारी में जुट गई है। इसी के बीच राजधानी जयपुर के रामलीला मैदान में मायावती ने केन्द्र और राज्य सरकार को निशाने पर लेते हुए बसपा कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया।

यूपी के विधानसभा चुनाव के बाद अब निकाय चुनाव में मिली बीजेपी की जीत ने योगी आदित्यनाथ का कद ओर बढा दिया है। .वही यूपी में चुनावी शिकस्त खाने के बाद अब बसपा ने राजस्थान और उड़ीसा में जमीन तलासनी शुरू कर दी है। इसी के बीच जयपुर में बसपा प्रमुख मायावती ने कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए चुनावी माहौल का शंखनाद कर दिया।

मायावती ने रामलीला मैदान में पार्टी कार्यकर्ता और पदाधिकारियों को संबोधित करते हुए केन्द्र और प्रदेश सरकार पर गरीब, मजदूर,किसान और व्यापारी वर्ग के शोषण का लगाया आरोप। मायावती ने केन्द्र सरकार पर निशाना लगाते हुए कहा की देश की सरकार को सत्ता में रहते तीन साल हो गए लेकिन अब तीन साल बाद पिछड़ा वर्ग आयोग की याद कैसे आई। उन्होने एनडीए सरकार आरक्षण समाप्त करने के लिए नए रास्ते निकालने का भी आरोप लगाया।

10 दिसंबर से भारत सरकार के अफसर दौड़ेंगे बिजली की कारों में, एक चौथाई से भी कम हो जाएगा खर्चा

इस दौरान कांग्रेस भी मायावती के निशाने पर रही। मायावती ने कहा कि कांग्रेस ने जातिवादी सोच के कारण मंडल कमिशन की रिपोर्ट लागू नहीं की, जबकी यूपी में बसपा सरकार ने अल्पसंख्यक और दलितों का पूरा ध्यान रखा। मायवती ने राजस्थान में दलितों पर अत्यावार के मामलें बढने और उनकी शिकायत नही सुनने की बात कही। मायवती ने कहा की आज राजस्थान में अपराधी जेल के बाहर ओर निर्दोष जेल में बंद है।

गुर्जर आरक्षण बना राजस्थान सरकार के गले की हड्डी

मायवती का निशाना पीएम मोदी और आरएसएस पर भी रहा, मायावती ने कहा की पीएम मोदी ने लोकसभा चुनाव से पहले कई लुभावने वादे किये थे,लेकिन एक भी पूरा नही किया। बसपा प्रमुख ने मोदी पर विपक्ष खत्म करने का तंग कसते हुए कहा की बीजेपी विपक्ष को ख़त्म करने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर रही है,जिसमें सीबीआई,ईडी और आयकर विभाग शामिल है। मायावती ने नोटबंदी और जीएसटी को देश में गरीबी और बेरोजगारी के लिए जिम्मेदार ठहराया वही सरकार के प्रमुख स्लोगन सबका साथ सबका विकास को भी केवल जुमला बताया।

बहरहाल विधानसभा के बाद निकाय चुनाव में भी बसपा अपने प्रमुख गढ़ ,उत्तर प्रदेश में करारी हार का सामना कर चुकी है,लेकिन क्या बसपा के लिए राजस्थान सहित अन्य राज्यों में अपनी साख जमाना आसान होगा।

HIGHLIGHTES

-यूपी की करारी हार के बाद राजस्थान की ओर बसपा

-यूपी में निकाय चुनाव में भी बीएसपी को झटका

-यूपी में बीजेपी की जीत से योगी का बढा कद

-यूपी की जीत क्या गुजरात में रहेगी बरकरार

-उधर जयपुर में बसपा कार्यकर्ताओं का हुआ सम्मेलन

-बसपा प्रमुख मायावती ने किया सम्मेलन को संबोधित

-केन्द्र और प्रदेश सरकार पर रहा निशाना

-दलित अत्याचार के लिए मायावती ने सरकार को लिया निशाने पर

-केन्द्र सरकार पर सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग का आरोप

-जीएसटी व नोटबंदी को बताया गरीबी व बेरोजगारी के लिए जिम्मेदार

-यूपी में ईवीएम में गड़बड़ी की भाजपा ने-मायावती

Related posts

1 comment

Comments are closed.