सेंसेक्स की सबसे ऊंची छलांग, विशेषज्ञों ने माना अभी जारी रहेगी BSE, NSE में तेजी - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
जयपुर बिज़नेस राजस्थान

सेंसेक्स की सबसे ऊंची छलांग, विशेषज्ञों ने माना अभी जारी रहेगी BSE, NSE में तेजी

जनमंथन, जयपुर। भारतीय शेयर बाजार में लगातार उछाल जारी है। शुक्रवार को सेंसेक्स (BSE) ने अब तक के सबसे उच्चतम स्तर तक छलांग लगाई। सेंसेक्स 112 अंक बढकर 33, 686 अंक पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी (NSE) 29 अंक बढकर पहली बार 10,452 अंक पर बंद हुआ। आने वाले भविष्य के लिए विशेषज्ञ इसे अच्छा संकेत मान रहे हैं। शेयर बाजार विशेषज्ञों के मुताबिक अमेरिकी बाजार में तेजी आने के चलते विदेशी निवेशकों का रुझान शेयर बाजार में बढा है।

बैंकों के शेयरों में आए उछाल की वजह शेयर बाजार विशेषज्ञ केन्द्र सरकार की आर्थिक नीतियों को बता रहे हैं। मवेरिक शेयर ब्रोकर्स लिमिटेड के एमडी मुकेश जैन के मुताबिक केन्द्र सरकार की ओर से 2 लाख 12 हजार करोड के Recapitulation पैकेज दिए जाने से पीएसयू बैंकों के शेयर्स बढे हैं। जैन ने कहा कि संभवतः इससे देश में कई लोक कल्याणकारी योजनाओं में मदद मिलेगी और साथ ही बैंकों के रेट ऑफ इंट्रेस्ट भी कमी आएगी।

ताज़ा खबरेंः

राजस्थान में 7 वां वेतन आयोग लागू, 14 फीसदी बढेगा वेतन, नोटिफिकेशन जारी
मौत का ट्रांसफार्मर फटा, 18 की मौत 11 घायल, जयपुर के शाहपुरा थाना इलाके में दर्दनाक हादसा

जैन ने कहा कि बैंकों के साथ ही ऑटोमोबाइल सेक्टर और कंज्यूमर गु़ड्स प्रोडक्ट्स कंपनियों के शेयरों में भी इजाफा देखा जा रहा है। भारतीय शेयर बाजार में पिछले दिनों से आ रहे इस तेजी के पीछे एक ब़ड़ी वजह सरकारी उपक्रमों के विनिवेश को भी बताया जा रहा है। पिछले महिनों सरकार ने कई सरकारी कंपनियों को विनिवेश कर धन बटोरा है। मुकेश जैन के मुताबिक जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) और नोटबंदी भी शेयर बाजार के लिए फायदे का सौदा साबित हुई है।

बिजनेस खबरेंः

ट्राई की घोषणा, कॉल ड्रॉप होने पर दूरसंचार कंपनियों पर 10 लाख तक का जुर्माना
जयपुर में लगेगा सबसे बड़ा औद्योगिक मेला, जुटेंगे देशभर के 800 से ज्यादा उद्यमी
GST एक जुलाई से हो रहा लागू, बहुत कुछ होने वाला है महंगा
GST में आम जरूरत की इन चीजों पर रियायत

भारतीय शेयर बाजारों में यह उछाल अभी जारी रहने की संभावना है। उम्मीद जताई जा रही कि केन्द्र सरकार की कुछ नीतियां आगामी दिनों में बैंक उपभोक्ता और कंज्यूमर्स के लिए राहत की खबर लाएगी। इससे जीडीपी ग्रोथ में भी इजाफा होने की संभावना जताई जा रही है। जो शायद भारतीय शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों का और रुझान बढा सकती है।

Related posts