November 17, 2018
breaking news क्राइम देश पंचकुला

हनीप्रीत की अग्रिम ट्रांजिट जमानत याचिका दिल्ली हाईकोर्ट ने की खारिज

जनमंथन, नई दिल्ली। एक साथ दो रेप केसों में सजायाफ्ता डेरा सच्चा सौदा प्रमुख बाबा राम रहीम की करीबी हनीप्रीत की पारगमन अंतरिम जमानत दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। उच्च न्यायालाय ने कहा कि हनीप्रीत को मनमानी राहत नहीं दी जा सकती है। गौरतलब है कि 25 अगस्त को गुरमीत राम रहीम सिंह को पंचकुला सीबीआई विशेष अदालत ने सजा सुनाई थी। राम रहीम को कोर्ट द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद पंचकुला में डेरा समर्थकों ने खूब हिंसा बरपाई थी। इस हिंसा में कुल 41 लोग मारे गए थे। हनीप्रीत इंसां पर हिंसा भड़काने के साथ ही राष्ट्रदोह और अन्य कई गंभीर आरोप हैं। हनीप्रीत 25 अगस्त से ही फरार चल रही है। पुलिस भी कई दिनों से हनीप्रीत को तलाश करने में जुटी हुई है।

देश और देश के बाहर जहां-जहां हनीप्रीत के तार जुड़े हुए हैं, वहां-वहां पुलिस की छानबीन जारी है। इसीलिए हनीप्रीत ने अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय में अपील की थी।  मंगलवार शाम दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत की याचिका को खारिज कर दिया और कहा कि  हनीप्रीत दिल्ली की परमानेंट रेसीडेंट नहीं हैं। इसलिए हनीप्रीत को बेल के लिए पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट जाना चाहिए।

संबंधित खबरेंः

हनीप्रीत के पूर्व पति का खुलासा, राम रहीम और हनीप्रीत को NUDE देखा सेक्स करते हुए

हनीप्रीत है राम रहीम की रखैल, इसीलिए उसे डेरे में मिली बड़ी पोजिशन

बाबा राम रहीम के बाद अगला नंबर राधे मां का, मामला पहुंचा कोर्ट

राम रहीम की राजदार हनीप्रीत छुपी है राजस्थान में।

इससे पहले मंगलवार सुबह हनीप्रीत के एडवोकेट प्रदीप आर्य ने उच्च न्यायालय में ट्रांजिट इंटरिम बेल की याचिका लगाई थी। इस मामले में सुनवाई करते हुए जस्टिस संगीता ढींगरा ने फैसला सुरक्षित रख लिया। देर शाम जस्टिस ढींगरा ने हनीप्रीत की याचिका खारिज कर दी। कोर्ट ने आदेश में कहा कि – याचिकाकर्ता ने पंचकुला कोर्ट में जारी प्रक्रिया को विलंबित करने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में अंतरिम जमानत की याचिका दायर की है। कोर्ट ने आगे कहा कि हनीप्रीत को इस मामले में समय चाहिए इसीलिए इस तरह की पिटीशन दाखिल की गई।

संबंधित खबरेंः

क्या नेपाल में पकड़ी गई है, राम रहीम की हनीप्रीत ?

राम रहीम को 10 साल की नहीं 20 साल की सजा

राम रहीम के साथ ही ये 7 नामचीन बाबा भी रहे हैं काले कारनामों में शामिल

@ राम रहीम दोषी करार, समर्थक बेकाबू, हिंसा में 32 की मौत, 250 ट्रेन रद्द

सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने हनीप्रीत के वकील प्रदीप आर्य से कहा कि हनीप्रीत हरियाणा की स्थायी निवासी है इसलिए हनीप्रीत को सरेंडर कर देना चाहिए। इसके अलावा हरियाणा और दिल्ली पुलिस ने भी हनीप्रीत की याचिका पर एतराज किया और याचिका पर लिखा हुआ दिल्ली का एड्रेस भी गलत बताया। पुलिस ने कहा कि हनीप्रीत को कोर्ट की आंखों में भी धूल झोंकने का प्रयास कर रही है।

संबंधित खबरेंः

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम बलात्कार के केस में दोषी करार

डेरा सच्चा सौदा के भीतर की हकीकत देखकर चौंक जाएंगे आप

डेरा समर्थकों की पंचकुला में गुंडागर्दीहरियाणापंजाब में कर्फ्यू

रेप के दोषी इस बाबा को बॉलीवुड का चस्का, सनी लियोन, शिल्पा, राखी के साथ आया नजर

याचिका में ये दलीलें देकर चाहती थी हनीप्रीत अंतरिम बेल-
हनीप्रीत ने अंतरिम जमानत की अर्जी में कहा है कि हरियाणा में नशे का कारोबार संचालित करने वाले कुछ लोग उसे धमकी दे रहे हैं। इसके अलावा हनीप्रीत ने अपनी अर्जी (पिटीशन) में यह भी कहा कि उसका घर दिल्ली में ही है, उसको गिरफ्तारी का डर है। हनीप्रीत के वकील प्रदीप आर्य ने कहा कि अगर न्यायालय आदेश दे तो वे हनीप्रीत को महज 2 घंटे में पेश कर सकते हैं।

ताज़ा खबरेंः

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर हरभजन ने कसा तंज, ट्वीट कर क्लार्क माइकल को दी सन्यास से वापसी की सलाह

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध इंदौर में तीसरा वनडे मैच 5 विकेट से जीता

हनीप्रीत को राजस्थान में भी जगह-जगह ढूंढ रही पुलिस देखें वीडियोः

Related posts

2 comments

Comments are closed.