breaking news जयपुर देश राजस्थान लाइफस्टाइल

गली से ग्लैमर जगत तक का वस्त्र शिल्प नजर आया वस्त्र-2017 में, केन्द्रीय टैक्सटाइल मिनिस्टर समृति ईरानी ने किया उद्घाटन

जनमंथन, जयपुर। देश और दुनिया के परिधान, पहनावे के ढंग और पहनावे की कला का प्रदर्शन आज फिर से जयपुर में एक मंच पर हुआ। मौका था, सीतापुरा स्थित जयपुर एग्जिबिशन एंड कन्वेंशन सेन्टर में आयोजित अंतरराष्ट्रीय टैक्सटाइल और अपैरल फेयर वस्त्रा-2017 का। साल 2012 से जयपुर में शुरू हुए इस परिधान मेले में इस बार 50 देशों से करीब 300 विदेशी बायर्स और 100 भारतीय बाइंग हाउसेज के 200 से ज्यादा प्रतिनिधी जुटे।

इस वस्त्र महाकुंभ में भारत के 13 राज्यों के 250 एक्जिबिटर्स ने अपनी एग्जिबिशन लगाई है। एग्जिबिशन में परिधानों के साथ ही वस्त्र कला, वस्त्र कला से जुड़ी एसेसरीज और तकनीक का प्रदर्शन भी किया गया। इस वस्त्र प्रदर्शनी में क्रेता-विक्रेता बैठकें रखी गई हैं। इसके अलावा नई दिल्ली स्थित बुल्गारिया दूतावास में डिप्लोमेट काउंसलर ईलिया डेकोव, ब्रुनेई दारुसलम के भारत में उच्चायुक्त एच.ई. डाटो पाडुका सिडके अली भी इस आयोजन में शामिल होंगे।

सीतापुरा स्थित जयपुर एक्जिबिशन एंड कन्वेेंशन सेन्टर के 3 हजार 600 वर्गमीटर एरिया में देश के 13 राज्यों के 250 एग्जिबिटर्स ने अपनी प्रदर्शनी लगाई हैं। इस वस्त्र मेले में लगी वस्त्र प्रदर्शनी में जहां लोक कलाओं के चटख रंग नजर नजर आते हैं वहीं वेस्टर्न अपैरल्स के सैंकड़ों सैगमेन्ट्स यहां प्रदर्शित किए गए हैं।

कपड़े पर होने वाली ठेठ देसी हस्तकला के साथ ही ग्लैमर जगत तक की चकाचौंध का पूरा सामान है इस बार वस्त्रा-2017 में। इस वस्त्र प्रदर्शनी में एक एग्जिबिशन से दूसरी एग्जिबिशन तक पहुंचते हुए विजिटर्स रंगों के किसी तिलिस्म की गहराई में डूबने को विवश नजर आ रहे है।

केंद्रीय टैक्सटाइल मिनिस्टर स्मृति ईरानी ने कहा है कि टैक्सटाइल सेक्टर देश में मेक इन इंडिया कैम्पेन में सबसे ज्यादा अहमियत रखता है। स्मृति ईरानी ने कहा कि टैक्सटाइल सेक्टर में अब हमे और संभावनाएं तलाशने की जरूरत है।

स्मृति ने इस दौरान राजस्थान के कपड़ा उद्योग और परिधान कला की सराहना की। उन्होंने कहा कि बंधेज, गोटापत्ती, छपाई का काम देश में ही पूरे देश में ही नहीं विदेशों में भी विख्यात है। स्मृति ईरानी ने राजस्थान के कपड़ा उद्योग को हर संभव मदद देने का भी आश्वासन दिया।

वस्त्र प्रदर्शनी में शामिल राजस्थान के उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने कहा कि राजस्थान को गारमेंट हब बनाने की तैयारी है। उन्होंने इस बात को स्वीकार कि राजस्थान के कपड़ा व्यापारी जीएसटी के नए प्रावधानों से नाराज हैं लेकिन उनके मांगपत्र से जीएसटी काउंसिल को अवगत कराया हुआ है।

देखें, वस्त्रा-2017 में Fashion Show की झलकियांः-

Related posts

1 comment

Comments are closed.