पेट्रोल डीज़ल के दामों में बढ़ोतरी सरकार की मनमानी, जानिए - ये है पूरी कहानी - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
breaking news देश बिज़नेस

पेट्रोल डीज़ल के दामों में बढ़ोतरी सरकार की मनमानी, जानिए – ये है पूरी कहानी

जनमंथन, नई दिल्ली। कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय क़ीमतों में 55 फीसदी कमी आ गई है इसके बावजूद पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ रहे हैं। कांग्रेस इस मुद्दे पर अब केन्द्र सरकार को घेरने की रणनीति बना रही है। कांग्रेस का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव कम होने के बाद भी देश में पेट्रोल-डीजल और पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में लगातार इजाफा किया जा रहा है। कांग्रेस ने चेतावनी दी है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढाकर सरकार जो खेल भोली भाली जनता से खेल रही है उसे जनता जानती है। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि अगर मोदी सरकार समय पर नहीं चेती तो आने वाले दिनों में कांग्रेस आम आदमी के साथ सड़कों पर उतरेगी।

पेट्रोल-डीजल की कीमत तीन साल में सबसे ऊंचे स्तर पर
महंगाई और पेट्रोल, डीजल के ऊंचे भावों के जिस मुद्दे पर 2008 में भाजपा ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार को घेरा था, वही कांग्रेस पार्टी इस मुद्दे पर अब केन्द्र में सत्तारूढ भाजपा सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है। दरअसल पेट्रोल और डीजल की कीमतें केन्द्र में मोदी सरकार बनने के बाद तीन साल के भीतर सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है। आम आदमी पर पैट्रोल-डीजल की कीमत का सबसे ज्यादा असर दिख रहा है। डीज़ल की कीमतों ने ट्रांसपोर्टेशन को भी महंगा कर दिया है ऐसे में महंगाई ने इतने पैर पसार लिए हैं कि यूपीए सरकार की महंगाई को लोग भूल चुके हैं।

पढेंः पेट्रोल-डीजल की ऊंची दरों पर बेतुका बयान देने वाले मंत्री जेके अल्फॉंस का जयपुर में कांग्रेस ने फूंका पुतला

कच्चे तेल के दाम 55 फीसदी घटे लेकिन पैट्रोल डीजल की कीमतों में इजाफा
साल 2014 के बाद पिछले तीन सालों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड़ ऑयल (कच्चे तेल) की कीमतें आधी से भी कम रह गई हैं। लेकिन देश में पेट्रोल, डीजल के दामों में रोजाना ईजाफा हो रहा है। मुंबई में तो पेट्रोल की कीमत गत बुधवार को 80 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गई। मोदी सरकार बनने के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड़ ऑयल (CRUDE OIL) की कीमत 55 फीसदी तक घट चुकी हैं, लेकिन पेट्रोल डीजल की कीमतें घटने की बजाय तेजी से बढ रही हैं।

कांग्रेस कार्यकाल में 120 डॉलर प्रति बैरल थे क्रूड ऑयल के दाम आज 49 डॉलर प्रति बैरल फिर भी महंगा पेट्रोल-डीजल
कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने बताया कि यूपीए सरकार ने 2008 में पेट्रोल-डीजल की कीमतें चार साल स्थिर रखने के बाद जब बढाई थी तो भाजपा ने इसे आर्थिक आतंकवाद का नाम दिया था। तिवारी ने कहा कि जब देश में मोदी सरकार बनी थी तब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 120 डॉलर प्रति बैरल थी। तिवारी ने कहा कि कच्चे तेल की कीमतें आज 55 फीसदी तक नीचे आ चुकी हैं लेकिन फिर भी कीमतों में इजाफा कर मोदी सरकार मौन बैठी है।

पढेंः  रोडवेजकर्मियों के हित में बड़ा फैसला,RSRTC को मिलने 45000 करोड़

मोदी सरकार ने 3 साल में पेट्रोल डीजल पर लगाई कई गुना एक्साइज ड्यूटी
पेट्रोल डीजल के दामों में बढोतरी की वजह यह है कि पिछले 3 साल में मोदी सरकार ने पेट्रोल, डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कई गुना तक बढा दी है। तीन साल के भीतर की ही बात करें तो पेट्रोल पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी 10 रुपये लीटर से बढ़कर अब 22 रुपये हो चुकी है।

पढेंः शरद यादव के नेतृत्व में साझी विरासत बचाओ सम्मेलन जयपुर में, RSS और मोदी निशाने पर

रोजाना पेट्रोल-डीजल के दाम बदलने का गणित समझाया SMC ग्लोबल के रिसर्च हैड डॉ. रवि सिंह ने
SMC ग्लोबल के रिसर्च हैड डॉक्टर रवि सिंह ने जानकारी दी है कि 1 जुलाई, 2014 को क्रूड़ ऑयल (कच्चे तेल) के दाम 112 डॉलर प्रति बैरल थी, तब देश में पेट्रोली की कीमत 73.60 प्रति लीटर थी। रवि सिंह ने बताया कि 1 अगस्त, 2014 को कच्चे तेल की कीमतें कम हुई और कीमत 106 डॉलर प्रति बैरल हो गई. उस दिन देश में डीजल की कीमत 58.40 रुपये प्रति लीटर थी लेकिन 13 सितंबर 2017 को कच्चे तेल की कीमतें 54 डॉलर प्रति बैरल है और फिर भी पेट्रोल, डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं।

पढेंः RSS प्रमुख मोहन भागवत 7 दिन रहेंगे जयपुर, संघ की शाखाओं का करेंगे विस्तार

कुछेक दिनों को छोड़ रोजाना हो रही पेट्रोल की कीमतों में बढोतरी
डॉक्टर रवि सिंह ने यह भी बताया कि जुलाई से पेट्रोल की कीमतें निरंतर बढ रही हैं। उन्होंने बताया कि पेट्रोल की कीमत को 3 साल के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गई है।
रवि सिंह के मुताबिक पेट्रोल के भावों में रोजाना मामूली संशोधन होता है। नई दिल्ली में गत 16 जून को पेट्रोल की कीमत 65.48 रुपये लीटर थी, जो 2 जुलाई को कम होकर 63.06 रु.लीटर पर आ गई। उन्होंने यह भी बताया कि कुछेक दिनों को छोड़ दें तो प्रतिदिन पेट्रोल के दामों में बढोतरी हुई है।

पढेंः  पूरे प्रदेश के किसान परेशान और आंदोलित लेकिन सरकार बेपरवाह -घनश्याम तिवाड़ी

सभी कर हटा लिए जाएं तो देश में पेट्रोल 38 रुपये और डीजल 29 रुपये प्रतिलीटर के भाव में मिलेगा
अगर मोदी सरकार में भी पेट्रोल डीलज पर करारोपण तत्कालीन यूपीए सरकार के अनुसार ही होता तो पेट्रोल 38 रुपये और डीजल 29 रुपये लीटर होता। लेकिन एक्साइज ड्यूटी में कई गुना इजाफा करने से ऐसा नहीं हो सका। इसके अलावा जीएसटी से भी पेट्रोल डीजल को बाहर रखा गया है ताकि राज्य सरकारें पेट्रोल, डीजल की कीमतों में और इजाफा करने की मनमानी कर सके। ज्यादा राजस्व प्राप्ति के खेल में जनता पर निरंतर अधिभार डाला जा रहा है। दूसरी ओर रसोई गैस सिलेंडर और मिट्टी के तेल के दामों में भी खूब इजाफा हुआ है।

पढेंः जयपुर के भ्रष्ट पुलिसकर्मी पर एसीबी की कार्यवाही

क्रूड़ ऑयल के घटने का फायदा नहीं मिल रहा आम जनता को, जनता में आक्रोश
ग्राउंड रिपोर्ट की बात करें तो आम लोगों में पेट्रोल डीजल की कीमतें बढने से खासा आक्रोश है। महंगाई से त्रस्त होकर 2014 के लोकसभा चुनाव में हर-हर मोदी करने वाली आम जनता खुद को ठगा सा महसूस करने लगी है। पेट्रोल, डीजल के दामों में लगातार हो रही इस बढोतरी ने आम आदमी जीवनशैली को भी प्रभावित कर दिया है। महंगाई दिन ब दिन पैर पसार रही है।

पढेंः @ श्राद्ध में पितरों को करें संतुष्ट नहीं तो दे सकते हैं श्राप, रखें इन 12 बातों का विशेष ध्यान

पेट्रोल डीजल का भार नहीं हो रहा वहन, ऐसी सरकार नहीं करती जनता सहन
सवाल यह उठता है कि महंगाई के प्रमुख मुद्दे पर कांग्रेस को घेरकर सत्तारूढ हुई भाजपा अब खामोश क्यों है। सरकार चलाने के लिए और राजस्व प्राप्ति के लिए महज जनता पर अधिभार डाला जा रहा है। महंगाई से पहले से त्रस्त जनता जागरूक होने के साथ एक ओर इतनी मासूम है जिसने भाजपा को सत्तारूढ किया लेकिन दूसरी ओर उतना ही आक्रोश भी रखती है जिसने कांग्रेस का सफाया कर दिया था।

अन्य खबरेंः

हनीप्रीत है राम रहीम की रखैल, इसीलिए उसे डेरे में मिली बड़ी पोजिशन

बाबा राम रहीम के बाद अगला नंबर राधे मां का, मामला पहुंचा कोर्ट

@ डेरा सच्चा सौदा के भीतर की हकीकत देखकर चौंक जाएंगे आप

राम रहीम को 10 साल की नहीं 20 साल की सजा

@ राम रहीम के साथ ही ये 7 नामचीन बाबा भी रहे हैं काले कारनामों में शामिल

@ राम रहीम दोषी करार, समर्थक बेकाबू, हिंसा में 32 की मौत, 250 ट्रेन रद्द

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम बलात्कार के केस में दोषी करार

डेरा समर्थकों की पंचकुला में गुंडागर्दी, हरियाणा, पंजाब में कर्फ्यू

रेप के दोषी इस बाबा को बॉलीवुड का चस्का, सनी लियोन, शिल्पा, राखी के साथ आया नजर

Related posts

3 comments

Comments are closed.