खान मंत्री सुरेन्द्रपालसिंह टीटी ने कहा-लोकायुक्त द्वारा ठहराए दोषी अधिकारियों पर जल्द होगी कार्रवाई - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
January 16, 2019
breaking news जयपुर राजस्थान

खान मंत्री सुरेन्द्रपालसिंह टीटी ने कहा-लोकायुक्त द्वारा ठहराए दोषी अधिकारियों पर जल्द होगी कार्रवाई

जनमंंथन, जयपुर। लोकायुक्त द्वारा दोषी ठहराए गए खान अधिकारियों पर जल्द ही कार्रवाई का सरकार मन बना चुकी है। यही नहीं पुराने बकायादारों के लिए भी विभाग एमनेस्टी स्कीम ला रहा है और जो स्कीम में शामिल नहीं होंगे उनके खनन पट्टे रद्द किए जाएंगे।

लंबे अरसे के बाद सोमवार को खान मंत्री सुरेंद्रपाल सिंह टीटी ने खनिज सलाहकार परिषद की बैठक के साथ ही खान विभाग की समीक्षा बैठक ली। सलाहकार परिषद की बैठक में शामिल विधायक सदस्य हालांकि व्यक्तिगत समस्याएं उठाते नजर आए लेकिन मंत्री टीटी ने विभाग की योजनाएं और नीति पर ही अपना फोकस रखा।

अहम बात यह रही कि बैठक में विधानसभा में की गई घोषणाओं को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए गए। यही नहीं दो खदानों के बीच पड़ने वाले गेप एरिया को भी ई ऑक्शन से आवंटित करने और एक हजार नई खदानों के आवंटन पर भी चर्चा की। विभाग में आने वाली अपील को तीन महीने में निस्तारित करने की डैडलाइन तय की गई और अदालत में लंबित 247 मामलों को विधि विशेषज्ञों से मशविरा कर जल्द निपटाने पर भी वार्ता हुई।

सोमवार को दूसरी बैठक में खान विभाग की प्रमुख सचिव अपर्णा अरोड़ा से लेकर फौरमेन तक के अधिकारी कर्मचारी शामिल हुए। इस बैठक में खान मंत्री सुरेंद्रपाल सिंह टीटी ने साफ कहा कि जिन्हें लोकायुक्त न दोषी माना है। उन सब पर विभाग जल्द ही सख्त कार्रवाई करने जा रहा है। बैठक में टीटी ने वन टू वन चर्चा में दागी अधिकारियों को चेतावनी दी कि विभाग में भ्रष्टाचार सहन नहीं होगा और दोषी अधिकारी कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहें।

ये कहा,मंत्री सुरेन्द्रपाल सिंह टीटी ने

टीटी ने खान विभाग की वर्षों पुरानी बकाया को लेकर भी एमनेस्टी स्कीम लाने को कहा और बताया कि जो एकमुश्त जुर्माना राशि चुकाए उसे ब्याज नहीं लिया जाएगा और जो ऐसा करने से मना करे संबंधित खनिज अभियंता उसकी लीज रद्द करे।

भ्रष्टाचार के मामलों के बीच खनन कुनबे की बैठक में मंत्री सुरेंद्रपाल सिंह टीटी का चेतावनी देना या कड़ा रुख अपनाना पर्यापत नजर नहीं आ रहा है। अब समय की मांग है कि मंत्री दागी अधिकारियों पर कार्रवाई कर नजीर पेश करें ताकि विभाग से भ्रष्टाचार की कालिख को कुछ कम किया जा सके।

Related posts