November 17, 2018
breaking news Health जयपुर देश राजस्थान

इस विचित्र बालक को देख मां के भी उड़ गए थे होश, देखें कैसे बदला विशेषज्ञों ने कुदरत को

जनमंथन, जयपुर। राजस्थान के सिरोही जिले के पिण्डवाड़ा कस्बे के एक आदिवासी महिला फूली बाई ने एक विचित्र बालक को जन्म दिया तो उसकी खुशी गम में बदल गई। फूली बाई ने एक ऐसे नवजात को जन्म दिया जिसेक पेट पर दूसरे प्री-मैच्योर बच्चे के अंग जुड़े हुए थे। इस नवजात के दो सामान्य पैरों के अलावा दो पैर पेट वाले हिस्से से जुड़े हुए थे और साथ ही सामान्य लिंग के अलावा पेट वाले हिस्से पर एक लिंग अलग से था।

इस अजीबोगरीब बच्चे को देखकर फूलीबाई और उसके परिवार की खुशियां काफूर हो गई। अब समस्या यह हो गई कि जिन्दगी और मौत के बीच झूल रहे इस नवजात की ज़िन्दगी को कैसे बचाया जाए। जन्म के बाद से ही नवजात के हालात बहुत नाजुक थे। ऐसे में नवजात के परिजनों राज्य में संचालित भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे में जानकारी मिली जिसने आदिवासी परिवार को रोशनी की नई किरण दिखा दी।

देखिए: अभिनेता अरुण बख्शी का नया अवतार

पहले बच्चे को उदयपुर के महाराणा भूपाल हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। बाद में नवजात को उदयपुर से जयपुर के जेके लॉन हॉस्पिटल में लाया गया। मुख्यमंत्री कार्यालय को इस विचित्र नवजात की जानकारी हुई तो जेके लॉन हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ. अशोक गुप्ता की निगरानी में बच्चे का उच्च स्तरीय इलाज शुरू हुआ और पीडियाट्रिक सर्जन्स की टीम ने आखिरकार बच्चे के अर्द्वविकसित अंगों को अलग कर दिया। फिलहाल बच्चा स्वस्थ्य है और उपचाराधीन है। और बच्चे के परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं है।

Related posts

5 comments

Comments are closed.