breaking news क्राइम जयपुर राजस्थान

20 साल पुराने कब्रिस्तान पर कशमकश में सरकार, विवादों से नाता रहा इस कब्रिस्तान का

जनमंथन, जयपुर। न्यायालय के आदेश की पालना में 20 साल पुराने शास्त्री नगर कब्रिस्तान पर अतिक्रमण मामले में बुधवार को गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने बैठक ली। सचिवालय में ली गई इस बैठक में गृह विभाग के सचिव मनीष चौहान, पुलिस अधीक्षक सत्येंद्र सिंह मौजूद रहे। इसके अलावा बैठक में नगर निगम,फॉरेस्ट और जेडीए समेत सभी विभागों के आला अधिकारी भी मौजूद रहे।

बैठक में कोर्ट के आदेशों के मुताबिक कब्रिस्तान से अतिक्रमण हटाने और कब्जेधारियों के पुनर्वास को लेकर भी चर्चा हुई। गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने बताया कि नवंबर महिने से पहले अतिक्रमणियों को हटाना होगा और इसके लिए जेडीए और पुलिस विभाग कार्रवाई कर रहा है। उन्होंने बताया कि जेडीए ने शास्त्रीनगर इलाके में ही फ्लैट बनाए हैं जहां इन लोगों का पुनर्वास (शिफ्ट) किया जाएगा।

कटारिया ने यह भी बताया कि शास्त्रीनगर कब्रिस्तान पर अतिक्रमण करने वाले कुल 132 परिवार हैं जिनमें 400 से ज्यादा लोग रहते हैं। गृहमंत्री ने बताया कि अतिक्रमणियों के राशन कार्ड के जरिए उनका पुनर्वास कराया जाएगा।

गौरतलब है कि कब्रिस्तान का इलाका 40 बीघा भूमि में फैला है। इस जमीन पर 33 बीघा 15 बिस्वा कब्रिस्तान है। कब्जेधारियों ने अतिक्रमण हटाने को भी सहमति दे दी थी लेकिन कब्रिस्तान की करीब 6बीघा 17 बिस्वा भूमि को वे कब्रिस्तान का जमीन नहीं मान रहे हैं। हांलाकि वक्फ रिकॉर्ड में संबंधित जमीन कब्रिस्तान कही है।

Related posts

1 comment

Comments are closed.