अमित शाह के दौरे ने किया वसुंधरा के विरोधियो का मुंह बंद, राजस्थान में राजे ही सिरमौर - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
breaking news जयपुर देश राजस्थान

अमित शाह के दौरे ने किया वसुंधरा के विरोधियो का मुंह बंद, राजस्थान में राजे ही सिरमौर

जनमंथन, जयपुर। भाजपा सुप्रीमो अमित शाह का राजस्थान दौरा आखिरकार आज संपन्न हो गया, तीन दिन शाह जयपुर प्रवास पर रहे। खास बात यह रही कि संगठन को मजबूत करने के लिहाज से रहे इस दौरे में कई कयासों पर विराम लगा तो कई मुद्दों पर सियासी चर्चाएं तेज हो गईं। अमित शाह ने राजस्थान में आगामी विधानसभा चुनाव के नेतृत्व पर बने संशय को भी यह कहकर खत्म किया कि भाजपा वसुंधरा राजे के नेतृत्व में ही आगामी राजस्थान विधानसभा चुनाव में शामिल होगी।

तीन दिवसीय दौरे में शाह ने संगठन को बूथ स्तर पर मजबूत करने के निर्देश दिए, विस्तारकों को आमजन के मन टटोलने और दूसरे दलों में सैंधमारी करने तक के निर्देश दे डाले। अमित शाह ने तीन दिन अंतिम छोर के कार्यकर्ता से लेकर राजस्थान के मंत्रियों, विधायकों, केन्द्रीय मंत्रियों और सांसदों तक की क्लास ली। प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों, निगम, बोर्ड और आयोग अध्यक्षों से भी उन्होंने फीडबैक लिया। अमित शाह ने कहा – काम अच्छा चल रहा है लेकिन नसीहत दे डाली, कई गुना बेहतर प्रदर्शन करने की। इसके अलावा अमित शाह ने प्रबुद्धजनों, साधू-संतों, और व्यवसायी वर्ग तक भी अपना संवाद पहुंचाया।

राजस्थान में विपक्ष में बैठी कांग्रेस को भी अमित शाह के इस दौरे से उम्मीद थी कि कई मुद्दों पर प्रदेश में घिरी वसुंधरा सरकार के लिए शाह का दौरा घातक साबित होगा। गौशालाओं की दुर्दशा, मंदिरों को तोडने, किसानों की ऋण माफी, समर्थन मूल्य और पार्टी के दिग्गजों की असंतुष्ठि जैसे कई मुद्दे राजस्थान में शाह का इंतजार कर रहे थे। इसके अलावा कई गंभीर भ्रष्टाचार के आरोप भी इस दौरान वसुंधरा राजे पर लगे, लेकिन आखिरकार भाजपा सुप्रीमो ने वसुंधरा को क्लीन चिट दे ही दी। उन्होंने शनिवार को हुई प्रेसवार्ता में स्पष्ट कर दिया कि वसुंधरा सरकार राजस्थान में अच्छा काम कर रही है।

अमित शाह के जयपुर प्रवास के आखिरी दिन सांसद-विधायकों की बैठक भी खास रही। इस बैठक में बांग्लादेशी घुसपैठियों से उपजी समस्यायों पर चर्चा हुई तो विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने एऩजीओ की लूट और मदरसों की ओर ध्यान खींचा। इसके अलावा बोर्ड अध्यक्षों, निकाय, निगम प्रमुख सहित पंचायत प्रमुखों से भी शाह का संवाद हुआ। इसके बाद अमित शाह ने दोपहर 1 बजे सुशीलपुरा में एक दलित कार्यकर्ता के घर पर खाना खाया इस दौरान मुख्यमंत्री वसुंराजे भी खाना खिलाय।

शाह का तीन दिवसीय राजस्थान दौरान रविवार शाम 4 बजे समाप्त हो गया। इसके बाद मुख्यमंत्र वसुंधरा राजे ने भाजपा मुख्यालय पर इस पूरे दौरे की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने बताया कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने निर्देश दिए हैं कि कोई भी कार्यकर्ता अपने दम पर चुनाव जीतने की धारणा से बाहर निकले और पार्टी की विचारधारा, सिद्धान्त से चुनाव जीतने की सोच कायम करें।

अन्य संबंधित खबरेंः

वसुंधरा के नेतृत्व में ही लड़ेगी भाजपा राजस्थान में आगामी चुनाव

4 महीने में अजेय बनेगी भाजपा, 25 साल तक नहीं हरा पाएगा कोई दल

वसुंधरा ने कहा- जल्द होगा राजस्थान भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश

Related posts

1 comment

Comments are closed.