सीएम वसुंधरा राजे ने कहा -जनता की गाढ़ी कमाई का होना चाहिए सदुपयोग - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
breaking news जयपुर राजस्थान

सीएम वसुंधरा राजे ने कहा -जनता की गाढ़ी कमाई का होना चाहिए सदुपयोग

जनमंथन, जयपुर। जिला कलक्टर-एसपी कॉन्फ्रेंस के दूसरे दिन आज सीएमओ में 9 विभागों का प्रजेन्टेशन हुआ। कॉन्फ्रेन्स के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता की गाढ़ी कमाई का सदुपयोग गरीबों, पिछड़ों, ग्रामीणों, महिलाओं और युवाओं सहित समाज के सभी वर्गों के लिए संचालित कल्याणकारी योजनाओं में होना चाहिए।

राजे ने यूडीएच विभाग के अधिकारियों से कहा कि आरयूआईडीपी के कामों को समय रहते पूरा किया जाए। उन्होंने आला अधिकारियों को जिलों में जाकर बैठकें करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने ठोस कार्ययोजना बनाकर पेयजल, सीवरेज, ड्रेनेज कार्यों ,स्मार्ट सिटी और अमृत मिशन की प्रगति पर पूरी निगाह रखने को कहा।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने शहरों को पॉलीथीन मुक्त और खुले में शौचमुक्त बनाने पर भी जोर दिया। इसके अलावा पीएम आवास योजना और सीएम जन आवास योजना के
लक्ष्यों को समय पर पूरा करने के भी राजे ने निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कच्ची बस्ती पुनर्वास योजना पर बोलते हुए कहा कि पुनर्वास के लिए बनाए गए आवासों खाली नहीं पड़े रहने चाहिए।

सीएम राजे सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग की चर्चा के दौरान कहा कि प्रदेश के छात्रावासों को रेगुलर चैक करने के निर्देश दिए। कृषि विभाग के प्रजेन्टेशन के दौरान मुख्यमंत्री वसुंधऱा राजे ने मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि यह योजना तीन जिलों से शुरू की जाएगी जिससे किसान गुणवत्तायुक्त बीज का उत्पादन अपने ही खेत में कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि योजना को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर कोटा, भीलवाड़ा और उदयपुर के कृषि खंडों में शुरू किया जा रहा है। राजे ने ज्यादा से ज्यादा किसानों को योजना से जोड़ने के निर्देश दिए।

collector-sp-conference

इसक साथ किसानों को खाद-बीज, कीटनाशक दवाओं की उपलब्धता का ध्यान ऱखने के भी कलेक्टर एसपी कॉन्फ्रेन्स में निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन प्रयासों सो किसान मानसून का पूरा लाभ उठा सकेंगे। उन्होंने ई-राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) पोर्टल को लोकप्रिय बनाने के भी निर्देश दिए।

कलक्टर-एसपी कॉन्फ्रेन्स के दौरान ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग का भी प्रजेन्टेशन हुआ। सीएम राजे ने एसीएस सुदर्शन सेठी समेत अन्य अधिकारियों को पंचायतों के बाहर फण्ड आवंटन के बोर्ड लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी कहा कि आवंटित फण्ड की जानकारी बोर्ड पर लिखवाई जाए। उन्होंने इस दौरान ऐलान किया कि जल्द ही पंचायतों पर इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले बोर्ड लगाए जाएंगे।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषाहार की गुणवत्ता सुनिश्चित करने को भी कहा। आंगनबाड़ी केन्द्रों पर खिलौना बैंक, यूनिफार्म आदि के जरिए हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़ाने के भी राजे ने निर्देश दिए।

इस कॉन्फ्रेन्स के दौरान गुरुवार को यूडीएच, एलएसजी, ग्रामीण विकास और पंचायती राज, कृषि, चिकित्सा और सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग के प्रजेन्टेशन हुए। एसीएस अशोक जैन, मुकेश शर्मा, सुदर्शन सेठी, प्रमुख सचिव नीलकमल दरबारी, डॉ. मंजीत सिंह और रोली सिंह ने संबंधित विभागों के प्रजेन्टेशन दिए।

कलक्टर-एसपी कॉन्फ्रेन्स के दौरान कई योजनाओं की प्रगति और भविष्य की रूपरेखा के बारे में
प्रजेन्टेशन दिए गए। कॉन्फ्रेन्स के दौरान मंत्रिमण्डल और मंत्री परिषद के सदस्य, मुख्य सचिव ओपी मीना सहित विभिन्न विभागों के आला अधिकारी, सम्भागीय आयुक्त और अन्य उच्चाधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts