November 17, 2018
breaking news जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान

जाट संगठन हनुमान बेनीवाल के निलंबन के खिलाफ में करेंगे, 1 जून को राजस्थान बंद

जनमंथन, जयपुर। अनुशासन तोड़ने के मामले में विधानसभा की सदस्यता से निलंबित चल रहे निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल के समर्थन में प्रदेश के तमाम जाट संगठन उतर आए हैं। इन सभी जाट संगठनों ने सोमवार को जयपुर के पिंकसिटी प्रेसक्लब में एक बैठक आयोजित की। बैठक में जाट संगठनों ने खींवसर विधायक बेनीवाल के निलंबन के खिलाफ 30 अप्रैल से आंदोलन का आगाज करने की रणनीति बनाई है।

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद हसन बालियान ने कहा है कि विधानसभा में सभी कांग्रेसी विधायकों का निलंबन वापस ले लिया गया लेकिन बेनीवाल का निलंबन वापस नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा कि हनुमान बेनीवाल जाट समाज के हैं लेकिन वे एक जन नेता के तौर पर सभी वर्गों के लिए लड़ते रहे हैं। सदन से माफी मांगने की बात पर उन्होंने कहा कि बेनीवाल ने कोई गलती नहीं की है बल्कि अपने अधिकार क्षेत्र में रहकर आवाज उठाई थी इसलिए माफी नहीं मांगेंगे।

आदर्श जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष रामनारायण चौधरी ने कहा कि बेनीवाल न केवल जाट समाज बल्कि किसान, दलित,और अल्पसंख्यक वर्ग के साथ ही तमाम वर्गों की आवाज उठाते रहे हैं। उन्होंने बताया कि हनुमान बेनीवाल के निलंबन के खिलाफ 30 मई को राजधानी जयपुर के सिविल लाइन फाटक पर प्रदर्शन किया जाएगा। चौधरी ने कहा कि अगर फिर भी बेनीवाल का निलंबन सरकार ने वापस नहीं लिया तो 1 जून को सभी जाट संगठन, किसान, अल्पसंख्यक और दलित वर्ग एकजुट होकर राजस्थान बंद कराएंगे।

गौरतलब है कि 26 अप्रैल को राजस्थान विधानसभा बजट सत्र के दौरान अनुशानसहीनता तोड़ने के आरोप में हनुमान बेनीवाल सहित बसपा विधायक मनोज न्यांगली और 12 कांग्रेसी विधायकों को 1 साल के लिए निलंबित कर दिया गया था। बाद में कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक प्रदुम्नसिंह और नेता प्रतिपक्ष के आग्रह और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के हस्तक्षेप पर कांग्रेस विधायकों का निलंबन 1 दिन का ही रखकर वापस ले लिया गया था, जबकि बेनीवाल और न्यांगली अभी भी विधानसभा की सदस्यता से निलंबित चल रहे हैं।

Related posts