सत्ता पक्ष के विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने फिर घेरा सरकार को - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान

सत्ता पक्ष के विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने फिर घेरा सरकार को

जनमंथन, जयपुर। सत्तापक्ष के विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने आज फिर सरकार को घेरने की कोशिश की। विधानसभा में आज उन्होंने पेंशन को गलती से बंद करने के आरोपी अधिकारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई पर जवाब मांगा। इस पर सामाजिक न्याय मंत्री अरुण चतुर्वेदी आंकड़ों के आधार पर जवाब देते रहे ,लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई संबंधी सवाल पर कुछ नहीं बता पाए।

प्रश्नकाल के दौरान विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने पूछा कि सत्यापन के आधार पर कितने लोगों की पेंशन रोकी और बाद में कितनों की बहाल की गई। साथ ही यह भी पूछा कि जितनों की पेंशन गलत बंद की है उसके जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है।

चतुर्वेदी ने आंकड़े पेश करते हुए बताया कि मृत्यु के कारण 1 लाख 79 हजार 798 लाभार्थियों की पेंशन बंद की गई जिसमें से 1 लाख 71 हजार 436 सही निरस्त थी और 8 हजार 362 गलत निरस्त पाई गई जिनकी जबसे पेंशन बंद की तबसे लेकर एऱियर देते हुए पेंशन चालू की गई। उन्होंने बताया कि मृत्यु औऱ अन्य कारणों से 4 लाख 18 हजार 333 की मौत के कारण पेंशन बंद की जिसमें सही कारण 3 लाख 80 हजार 325 सही कारण से बंद करना पाया गया और गलती से काटे गए लाभार्थियों की संख्या 38 हजार 7 है।

उन्होंने कांग्रेस विधायक घनश्याम मेहर के अन्य सवाल पर बताया कि कांग्रेस सरकार के समय 53 लाख पेंशन के लाभार्थी थे जो संख्या 61 लाख 99 हजार हो गई है औऱ इसी तरह पेंशन पर व्यय 280 करोड से 389.65 करोड हो गया है। उन्होंने ग्रामीण औऱ शहरी स्तर पर पेंशन की प्रक्रिया को ऑनलाइन या अन्य तरीके से आसान बनाने की कोशिश करने की भी बात कही।

Related posts