BPL पार्टी ने सरकार को चेताया, बदलें भ्रष्ट तंत्र को, नौकरशाही से हटाएं दबाव - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
जयपुर पॉलिटिक्स राजस्थान

BPL पार्टी ने सरकार को चेताया, बदलें भ्रष्ट तंत्र को, नौकरशाही से हटाएं दबाव

जनमंथन, जयपुर। भारतीय पब्लिक लेबर पार्टी (BPL) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबूलाल साहू ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से पत्र लिखकर मांग की है कि, सरकार अधिकारियों और कर्मचारियों पर दबाव बनाकर काम कराना बंद करे। साहू ने पत्र में लिखा है कि पिछले काफी समय से भाजपा सरकार के मंत्री और खुद सीएम उनके मन मुताबिक काम नहीं करने वाले अधिकारियों पर कई तरह से दबाव बनाकर काम करवा रही है।

बाबूलाल साहू ने कहा कि यह सर्वथा अनुचित है। साहू ने चेतावनी दी है कि इसका भारतीय पब्लिक लेबर पार्टी आने वाले दिनों में कड़ा विरोध करेगी। उन्होंने मुख्यमंत्री से यह भी मांग की है कि अधिकारियों को जनहित में नियमों के मुताबिक काम करने के लिए स्वतंत्र छोड़ दिया जाए।

बीपीएल पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस मामले में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट को भी पत्र लिखकर चुप्पी तोड़ने की मांग की है। उन्होंने कहा कि इतने बडे मुद्दे पर विपक्ष में बैठी कांग्रेस पार्टी कैसे चुप रह सकती है। हांलाकि दोपहर बाद पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस मुद्दे पर आखिरकार बड़ा बयान दिया ।

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री सचिव के.के. पाठक के सिविल सर्विस डे पर दिए बयान को आधार बनाकर कहा कि सत्ता पक्ष के कई विधायक अफसरों पर खुले में अपनी पीड़ा बयान कर चुके हैं कि, उनके क्षेत्र में कोई काम नहीं हो रहे हैं। गहलोत ने कहा कि ब्यूरोक्रेसी इतने दबाव में है कि वो कोई काम नहीं कर रही है। अफसरों को डर है कि दबाव में गलत काम करने पर उनके खिलाफ भी आगे कोई कार्रवाई की जा सकती है।

गौरतलब है कि सूबे के आईएएस और आईपीएस अधिकारियों पर सरकार द्वारा दबाव में काम कराने की बात कई बार उठी है। आईपीएस पंकज चौधरी पर राज्य सरकार की ओर से कार्यवाही करते हुए उन्हें चार्जशीट का मामला भी काफी गर्माया था। लेकिन सिविल सर्विस डे पर मुख्यमंत्री कार्यालय के सचिव के. के. पाठक के बयान ने प्रदेश में नया भूचाल ला दिया है।

आपको बता दें कि सिविल सर्विस डे पर के. के. पाठक (सचिव, मुख्यमंत्री कार्यालय) ने कहा था कि मुझे भी अपने दोस्त के भू-परिवर्तन काम के लिए पैसे देने पड़े थे। इस मामले में बाबूलाल साहू ने सरकार की निंदा की है, साथ ही राज्य सरकार को अपनी कार्यशैली और भ्रष्ट सिस्टम को सुधारने के लिए आगाह किया है। उन्होंने कहा कि अगर समय रहते सरकार नहीं चेती तो बीपीएल पार्टी पूरे प्रदेश में आंदोलन का आगाज़ करेगी।

Related posts