जेल में चलती है जेलर की मनमानी, बंदियों से परिजनों को मिलाने के नाम पर होती है अवैध वसूली - Jan Manthan : latest news In Hindi , English
क्राइम राजस्थान सवाईमाधोपुर

जेल में चलती है जेलर की मनमानी, बंदियों से परिजनों को मिलाने के नाम पर होती है अवैध वसूली

जनमंथन, सवाई माधोपुर। सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय स्थित उप कारागार में जेलर की मनमानी का मामला सामने आया है। कारागार में बन्द कैदियों से उनके परिजनों को मिलाने के मामले में जेलर का दोहरा रवैया कारागार की सुरक्षा में तैनात आरएसी के जवानों के लिये परेशानी का सबब बना हुआ है। वही बन्दियों से मिलने आने वाले परिजनों को भी कई घण्टों का इन्तजार करना पडता है। जेलर के दोहरे रवैये को लेकर बुधवार को आरएसी प्रभारी और जेलर के बीच जमकर तू- तू- मैं मैं हो गई । आरएससी प्रभारी का आरोप है कि उप कारागार में बन्द कैदियों से परिजनों को मिलाने के नाम पर जेल प्रशासन द्वारा अवैध वसूली की जा रही है ।

उप कारागार में बन्द कैदियों से मिलने आने वाले परिजनों को मिलवाने के लिये नियमानुसार सुबह 11 से 1 और दोपहर 3 से 5 का समय र्निधारित है। लेकिन उप कारागार में पदस्थ जेलर नन्द किशोर स्वामी की मनमानी के चलते बन्दियों से मिलने आने वाले परिजनों को कई घण्टों तक इन्तजार करना पडता है और सुबह से शाम तक जेल में बन्दियों से मिलने वालों की भीड लग जाती है। जेलर की मनमानी से जेल की सुरक्षा में तैनात आरएसी के जवान परेशान है। बन्दियों से मिलने आने वाले परिजनों का कहना है की पर्ची कटाने के बाद भी जब तक जेल प्रशासन के लोगों को पैसे नही दिये जाते तब तक उन्हे बन्दियों से नही मिलाया जाता है। जो जो लोग पैसे नही देते हैं, उन्हे बिना मिले ही वापस लौटना पडता है ।

जेलर की मनमानी से परेशान आरएसी प्रभारी शिवचरण सिंह ने जेलर पर बन्दियों से मिलने आने वाले परिजनों से अवैध वसूली करने का आरोप लगाया है । आरएसी प्रभारी का कहना है की जेलर द्वारा नियमों का उलंघन किया जा रहा है । उनका कहना है की जेलर बिना पर्ची के ही आरएसी जवानों पर जबरन दबाव बनाकर बन्दियों से उनके परिजनों को मिलवाने का दबाव बनाता है । उनका कहना है कि जेलर द्वारा र्निधारित समय पर बन्दियों से मिलने आने वाले परिजनों को नही मिलवाया जाता है। आरएससी प्रभारी के मुताबिक सीधे जेलर से जाकर सम्पर्क करने वाले लोग ही बिना पर्ची के जरिए बंदियों से मिल पाते हैं।

आरएसी प्रभारी के मुताबिक जेलर अवैध वसूली के चलते निर्धारित समय पर बन्दियों से मिलने आने वाले परिजनों को पर्ची नही देता है। उनका कहना है की जेलर की मनमानी से कारागार की सुरक्षा में तैनात सभी आरएसी के जवान परेशान है, हालात ये है की कई बार आरएसी के जवानों और जेलर के बीच तू-तू मैं- मैं तक हो चुकी है। बुधवार को भी इसी बात को लेकर आरएसी प्रभारी औी जेलर के बीच जमकर बहस हुई मगर जेलर नन्द किशोर स्वामी किसी की सुनने को तैयार नही है।

जेल में अवैध वसूली के सवाल का जवाब देते हुए जेल अधिकारी लक्ष्मी कान्त कटारा ने कहा है कि इस मामले की उचित जांच कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि जेल का निरीक्षण किया जाऐगा। गौरतलब है की कुछ दिनों पहले ही संभागीय आयुक्त द्वारा उप कारागार का निरिक्षण किया गया था और उन्होंने जेल में बन्दियों की ज्यादा संख्या के साथ ही जेल की अव्यवस्थाओं को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। जेल में चल रही अवैध वसूली और जेलर की मनमानी को लेकर आरएसी प्रभारी द्वारा उच्च अधिकारीयों को लिखित में शिकायत की गई है। अब देखने वाली बात ये है की इस मामले में जेल अधिकारी सहित आरएसी के उच्च अधिकारी किस तरह की कार्यवाही कर पाते है ।

-संवाददाता, बजरंग सिंह राजावात की रिपोर्ट

Related posts